महिला सशक्तिकरण

  1. मुख्यमंत्री महालक्ष्मी योजना का शुभारम्भ।
  2. तीलू रौतेली और आंगनबाङी कार्यकत्रि पुरस्कार की राशि को बढ़ाकर 51 हजार रूपये करने के निर्देश।
  3. अब पिछली सरकार (2015-16 और 2016-17) में नंदा गौरा योजना से वंचित 33216 बालिकाओं को मिलेगा लाभ, 49.42 करोड़ की शेष धनराशि अवमुक्त की जाएगी।
  4. बेटियों की शादी के लिए आर्थिक अनुदान के लिए विधवा महिलाओं की आय-सीमा को बढ़ाकर 48 हजार रुपये करने को स्वीकृति।
  5. राज्य के प्रत्येक जनपद मुख्यालय पर अध्ययनरत छात्राओं के शिक्षा को सुगम एवं सुविधायुक्त बनाने हेतु एक-एक महिला छात्रावास का निर्माण किया जायेगा।
  6. राज्य में आवश्यकतानुसार जनपद मुख्यालयों पर कामकाजी महिला छात्रावास का निर्माण किया जायेगा।
  7. मुख्यमंत्री महिला पोषण योजना के अन्तर्गत सप्ताह में दो दिन फल, ड्राई फूट व अण्डा को देने की मंजूरी।
  8. उत्तराखण्ड महिला एवं बाल विकास अधीनस्थ सुपरवाईजर सेवा नियमावली को प्रख्यापित करने का निर्णय।
  9. मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना का हुआ शुभारम्भ।
  10. कोरोना काल में बंद हुई मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना का किया गया पुनः शुभारंभ।
  11. आंगनबाड़ी कार्यकत्री, सहायिका एवं मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्री की चयन प्रक्रिया पारदर्शिता के दृष्टिकोण से ऑनलाइन किए जाने की घोषणा की गई।
  12. आंगनबाडी राज्य पुरस्कार योजना, तीलू रौतेली राज्य पुरस्कार एवं नंदा गौरा योजना में नामांकन प्रक्रिया को ऑनलाइन किए जाने की घोषणा गई।
  13. मुख्यमंत्री नारी सशक्तिकरण योजना।

 

 

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.